Best hindi essay on global warming

Global warming एक बहुत बड़ी समस्या।

Essay on global warming? दोस्तो क्या आप जानते है कि जल्द ही आने वाले समय में अगर पृथ्वी पर कोई आपदा आने वाली होगी तो वह global warming की वजह से ही होगी। Global warming के कारण सभी देश और पूरी पृथ्वी को भयंकर संकट का सामना करना पड़ सकता है।सभी देश के वैज्ञानिक इस समस्या का समाधान करने में लगे हुए है।लेकिन आम लोगो की दृष्टि से देखें तो ये उनके लिए सिर्फ एक scientific या कहे तो सिर्फ एक technical term है।इस समस्या को वह गंभीरता से नही लेते बल्कि नजरअंदाज कर देते है।

 

Global warming क्या है?

आसान भाषा में कहे तो पृथ्वी के तापमान में वृद्धि जिसके कारण अनियमित मौसम,अत्यधिक गर्मी (hotness) और सर्दी, ग्लेशियर का पिघलना और समुंदर का जल स्तर बढ़ना।जैसा कि आप लोग जानते होंगे पृथ्वी के वायुमंडल में अनेक जीव और जंतु सास लेते है। यह वायुमंडल अनेक गैसों से मिलकर बना होता है जिसमें Oxygen, Carbon dioxide और भी कई गैसे मौजूद है।जब वायुमंडल में कार्बन और कार्बन डाइऑक्साइड की मात्रा बढ़ने लगती है इस मात्रा के बढ़ने से ये आगे चलके Global warming का रूप ले लेती है।जिसे हम green house गैसे भी कहते है।

 

Green house गैस की वजह से पृथ्वी के तापमान में वृद्धि

क्या आप जानते है हम ज्यादा सर्दी वाले जगह में भी पोधो को उगा सकते है इसके लिए हम उन पोधों को एक शीशे के बॉक्स में बंद कर देते है जिससे जब भी उस सर्दी वाले मौसम में भी बहुत ही काम सूरज कि किरणों जब शीशे पर पड़ती है तो शीशे में भरी हुई green house गैस के कारण गर्मी अंदर आ जाती है लेकिन बाहर नही जा पाती।

 

Global warming के कारण

प्रदूषण (pollution)
बढ़ती हुई जनसंख्या (increment in population)
ग्रीन हाउस गैस (green house gases)
औद्योगिकरण (industrialization)
चलिए इन सभी कारणों के बारे में विस्तार से पढ़ते है।

यह भी पढ़े  flowers names in hindi

 

Pollution (essay on global warming in hindi)

Global warming के मुख्य रूप से बढ़ने का एक करना प्रदूषण भी है। जैसा कि आओ लोग जानते है कि हम सभी लोग पृथ्वी पर रहते हुए उसको प्रदूषित भी कर रहे है और वह भी कई तरह से जैसे की वायु, जल,भूमि और ध्वनि आदि। प्रदूषण के कारण वायु में आवश्यक गैस ख़तम होती जा रही है और carbon dioxide की वृद्धि हो रही है जो की Green house गैस में एक मुख्य चीज है।

 

बढ़ती हुई जनसंख्या

बढ़ती हुई जनसंख्या भी Green house गैस का एक और मुख्य कारण है। हम लोग यह जानते है की चीन और भारत दुनिया में अभी आबादी में सबसे बड़े देश है जिनकी जनसंख्या बहुत ज्यादा है। इसके कारण यहां तापमान में वृद्धि देखी जा सकते है और जिसके कारण यह सर्दियों के महीने भी काम होते जा रहे है।

 

उदहारण के लिए अप Delhi (भारत ) को है देख लीजिए यहां सर्दियों का मौसम आ जाने के बाद भी गर्मी महसूस होती है और बारिश के मौसम में भी बहुत बदलाव देखा गया है।इसमें दो मुख्य कारण है पहला Delhi कि जनसंख्या और दूसरा दिल्ली में होने वाला प्रदूषण जिससे कई लोगो की जाने भी जा रही है।

 

Green house gas

जैसा कि अपने ऊपर पढ़ा  ही होगा कि सर्दियों वाली जगह पर हम पोधे को ठंड से बचाने के लिए उनको एक शीशे(Glass) के बक्से में बंद कर देते है जिसमें ग्रीन हाउस गैस भर दी जाते हैं। इन सब से होता यह है कि जब भी सूरज की किरणे शीशे के BOX पर पड़ती है तो Green house gas की वजह से सूरज की गर्मी शीशे के अंदर आ जाती है लेकिन बाहर नही जा पाती। इसकी मदद से शीशे के अंदर मौजूद पोेधे अच्छी तरह से उग्ग पाते है।

ठीक इसी तरह जब सूरज की किरणों से गर्मी धरती पर आत्ती है तो वह धरती पर मौजूद Green house gas के कारण धरती के वायुमंडल से बाहर नही जा पाती है। इससे धरती का तापमान बढ़ जाता है जिससे Global warming होती है।

 

 

औद्योगिकरण (Industrialisation)

जैस की हम जानते है बढ़ती हुई जनसंख्या से लोगो की जरूरतें भी बढ़ती जा रही है। सभी लोगो की जरूरतों को पूरा करने के लिए कारखाने और Factory बनाई जा रहे है।इसके कारण यह Factory और कारखाने से निकालने वाला प्रदूषण जैसे कि रसायन, चिमनी से निकालने वाला धुआ और Plastic जैसे चीज यह सब कहीं ना कहीं Global warming को बढ़ने का कारण है। इन फैक्ट्री और कारखाने को बनाने के लिए जंगलों को काटा जा रहा है।यह सभी कारण एक दूसरे से जुड़े हुए है।

 

 

Global warming के प्रभाव

Global warming की वजह से जीव और जंतु के रहन सहन में बदलाव आता जा रहा है।इस सब के कारण कहीं पर बाढ तो कहीं पर सूखा भी देखने को मिल रहा है जिसके कारण लोगो को ही परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।Global warming से होने वाले कारणों से लोगो की मौत भी हो रहे है।इस सब को रोकने के लिए सभी देशों के वीज्ञानिक Global warming को कम करने के लिए कई नए साधनों को दूढ़ने में लगे हुए है।जिसकी मदद से हम पृथ्वी को आने वाले एक बहुत बड़े संकट से बचा सके।

समुंदर का जल स्तर बढ़ने का कारण पिघलते हुए ग्लेशियर है जो Global warming की वजह से होंरहा है। अंटार्टिका जैसे जगह जहा पर हमेशा बर्फ जमी रहती है वहां भी Global warming की वजह से बर्फ पिघलने लगी है।

 

Global warming की वजह से मौसम में बदलाव देखा जा सकता है। अपने देखा होगा कि भारत में इस साल जून के महीने में मॉनसून Delhi में देर से आया था और इसके कारण Delhi में बहुत ही ज्यादा गर्मी हो गई थी। यही नहीं Gujarat में तो गर्मी 50° डिग्री से भी ज्यादा हो गई थी। लेकिन इतनी गर्मी के कारण भी हमारे भारतीय सैनिक हमरी सुरक्षा के लिए Border पर इतनी ज्यादा गर्मी में भी तेनात है

 

प्रदूषण के कारण पृथ्वी के Ozone परत पतली होती जा रही है जिसे हम ओजोन परत में छेद भी कहते है। इसके कारण सूरज से पृथ्वी की तरफ आती हुई यूवी रेस इंसानों में कई Skin से जुड़े समस्या ला रही है।

 

 

Global warming को रोकने के उपाय

सबसे पहले हमें अपनी जनसंख्या (population) पर काबू करना होगा इसलिए अगर हमारी जनसंख्या इसी तरह बढ़ती रही तो हम Global warming को भी नही रोक पएंगे।

  • वनों को काम से काम काटना और ज्यादा से ज्यादा नए पेड़ (Plant tree) लगाना।
  • सरकार द्वारा Factory और कारखाने के लिए Pollution को कम से कम फैलाने के लिए नए नियम बनाना।
  • सूरज से आने वाली किरणों का बिजली (Electricity) बनाने मै प्रयोग करना।
  • Public Transport का ज्यादा उपयोग करना और निजी वाहनों का कम से कम इस्तमाल करना।
  • घरों, Office और अन्य जगहों पर air conditioning का कम से कम इस्तमाल करना।
  • कम से कम पेट्रोलियम Products का इस्तमाल करना।
  • प्राकृतिक ऊर्जा का उपयोग करके जिसमें हम प्रदूषण को नियंत्रित कर सकते है।
  • जल को संरक्षित करके। (Save water)

Global warming से होने वाले घातक परिणाम

  • Global warming के कारण कई जगह पर बाढ का खतरा बना रह सकता है।
  • इसके करना कई जगह पर सूखा या अकाल पड़ सकता है।
  • कई जगह पर अनियमित बारिश।
  • कहीं पर अत्यधिक गर्मी और सर्दी।
  • अच्छे से अनाज का पैदा ना हो पाना।

 

 

Global warming के प्रति जागरूक होना

जैसा की  हम सभी लोग जानते है कि Global warming की समस्या किसी एक देश की नही बल्कि पूरी दुनिया (World) के देशों की है। इसका समाधान कोई भी देश अकेले नही कर सकता है।इसको रोकने के लिए सभी देशों को एकजुट (Unity) होकर एक कानून बनाने की जरूरत है।तभी इस समस्या (Global problem) से हम पृथ्वी को आने वाले भयानक संकट से बचा सकते है।

यह भी पढ़े Animals name in hindi

 

Conclusion

पृथ्वी हम इंसानों के रहने की जगह है इसको बचाएं रखना हमारा कर्तव्य है।अगर हम लोग इसको नही बचा सकते तो हम इंसानों को एक बहुत बड़े संकट से जूझने के लिए तैयार होना पड़ेगा जो हम सब पर भारी पड़ेगा।

Leave a Comment