Stock market kya hai | Share market kya hai

पैसे को Invest करने की अहमियत के बारे में हम सभी जानते हैं और इसे Invest करने के कई तरीके हैं. आप में से कई लोगों ने मुझसे पूछा था स्टॉक मार्केट के बारे में तो इस Article में मैं स्टॉक मार्केट के बारे में ही बात करूंगा. लेकिन स्टॉक मार्केट का नाम सुनकर बहुत से लोगों के दिमाग में कन्फ्यूजन और डर पैदा हो जाता है कि ये स्टॉक क्या होता है कैसे इन्वेस्ट इनवेस्ट करें पैसे डूब जाएंगे बेकार है ये बहुत रिस्क होता है लेकिन दोस्तो रिस्क तो कूकर में खाना पकाने में भी है.

पर अगर आपको खाना पकाना आता है तो उसका रिस्क कम हो जाता है. रिस्क तो गाड़ी चलाने में भी है और अगर आप  अच्छे से गाड़ी चलाना जानते हैं तो एक्सिडेंट का खतरा कम हो जाता है. ठीक उसी तरह स्टॉक मार्केट में भी रिस्क है  और आप इस रिस्क से कभी भी नहीं बच पाएंगे. लेकिन अगर आपके पास सही नॉलेज है तो आप इस रिस्क को काफी हद तक कम कर सकते हैं. इसके बाद बहुत से लोगों का मानना है कि स्टॉक मार्केट एक जुआ है. हां अगर आपको इसके बारे में कुछ नहीं पता और फिर भी आप उसमें Invest किए जा रहे हैं तो ये आपके लिए एक जुआ ही है.

क्या आपको stock market में इन्वेस्ट करना चाहिए
आपको स्टॉक मार्केट में Calculated risk लेना होगा. कैलकुलेटर ड्रेस कैसे लेते आइये देखते हैं. सबसे मिला आप ये डिसाइड करो कि आप कितना रिस्क ले सकते हो. अगर आप यंग हों और महीने में अच्छा पैसा बचा लेते हो तो आप स्टॉक मार्केट में ज्यादा रिस्क ले सकते हैं. लेकिन अगर आप 60 साल के हों तो आप कुछ कम रिस्क लेना होगा. साथ ही आप ये देखें कि आप जो रिस्क ले रहे हो उस पर आपको कितना प्रॉफिट मिल जाए.

अगर आपको फायदा सिर्फ 5 रुपये का हो रहा है लेकिन 20 रुपये का नुकसान होने का chance है तो आपको इस तरह के investment नहीं करना चाहिए. तो सबसे पहले मैं स्टॉक मार्केट की एबीसीडी जान लेते तक आपको इसके बारे में पता लग जाए. हर कंपनी को Grow करने के लिए पैसे चाहिए होते हैं. कंपनी के फाउंडर के पास अगर पैसे हैं तो खुद के पैसे उसमें लगा सकते हैं. कुछ अमीर लोगों को मना कर उनसे अपनी कंपनी में इनवेस्ट करवा सकता है या फिर पब्लिक फंडिंग के जरिए पैसे ला सकता है.

पब्लिक फंडिंग में कंपनी आम जनता से पैसे लेती है. वो अपने बहुत से शेयर मार्केट में ऑफर कर देती है जिसे आईपीओ कहा जाता है.  यानी की इनिशियल पब्लिक ऑफर फिर आम लोग शेयर को आईपीओ के जरिए खरीदते हैं और कंपनी के हिस्सेदार बन जाते हैं. इस तरह से कंपनी को grow करने के लिए पैसे मिल जाते हैं

क्या Stock market Riski है
example के लिए अगर एक कंपनी की कीमत 3 करोड़ है और उसे अपने 3 लाख शेयर निकाले तो उसके हरेक शेयर की कीमत होगी 100 rs. अब अगर आप उसके 20 शेयर खरीद लेते हो तो आप उस कंपनी में 2000 रुपये के मालिक बन जाते हैं.

Read also Online paisa kamane ke tarike

आपको इस कंपनी में 2000 रुपये का हिस्सा है. इसी को शेयर करते हैं और अब आप उस कंपनी के शेयर होल्डर बन चुके हो. इसके बाद अगर वो कंपनी फ्यूचर में ग्रो करके 6 करोड़ के हो जाती है तो उसके एक शेयर की कीमत 100 रुपये से बढ़कर 200 रुपये हो जाएगी. आपके Invest किए गए 2000 रुपये 4000 बन जाएंगे. वैसे अगर कंपनी loss में जाकर एक करोड़ के हो जाती तो उसका एक शेयर 33 रुपये का हो जाएगा. आप जब चाहे अपने शेयर्स को बेचकर अपने पैसे को वापस पा सकते हैं

अगर आपको लग रहा है कि कंपनी डूब रही है या future में वो आपको profit कमाकर नहीं दे सकती आप उस कंपनी के शेयर्स को स्टॉक मार्केट में बेच सकते हो और उससे अपने पैसे वापस पा सकते हो. कंपनी को जो प्रॉफिट होता है तो वो कभी कभी उसे अपने शेयर होल्डर्स में बांट देती है या तो वो अपने शेयरहोल्डर्स को पैसे दे सकती है या फिर उसे और शेयर दे सकती है. इसे डिविडेंड कहा जाता है. कंपनी के शेयरों के दाम तब बढ़ जाते हैं जब इसे बहुत से लोग खरीदना चाहते हैं

माकेर्ट का universal law है if demand goes up Price goes up and vice versa  इसका मतलब है अगर एक कंपनी बहुत प्रॉफिट कमा रही है तो उसके स्टॉक्स बहुत से लोग खरीदना चाहेंगे  उसकी डिमांड बढ़ जाएगी और उसकी कीमत भी,  ठीक इसी तरह अगर कंपनी नुकसान में जा रही है

तो उसके स्टॉक्स कोई नहीं लेना चाहेगा. जिन लोगों ने उसे ले रखे हैं वो इसे बेचने लगेंगे और उसके प्राइस घट जाएंगे. लेकिन Simple rule ये है कि किसी कंपनी में तब invest करना चाहिए जब उसके स्टॉक की कीमत कम हो

इसके बाद जब उसकी कीमत बढ़ेगी तो या तो आप उसे बेच दीजिए और तुरंत पैसे वापस ले लीजिए या फिर long term के लिए इनवेस्ट करने के इरादे से उसे वहीं पर छोड़ दीजिए. एक example बताता हूं

2004 में जिस भी आदमी ने गूगल में Long term के लिए अपना पैसा लगाया होगा उसे अब तक अरबों रुपये का प्रॉफिट dividend के रूप में मिला होगा और अगर वो अपने shares नहीं बेचता है तो उसे जिंदगी भर गूगल से पैसे मिलते रहेंगे लेकिन सारी कंपनीज गूगल और फेसबुक की तरह नहीं होती. बहुत सी फेल हो जाती हैं जिसे investors को नुकसान हो जाता है

सलिए आपको स्टॉक मार्केट को बहुत deep में समझने की जरूरत है. इंडिया में दो स्टॉक मार्केट है जिनका नाम है बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज और नैशनल स्टॉक एक्सचेंज. नैशनल स्टॉक एक्सचेंज सबसे बड़ा  stock market है

आप इन दोनों में से किसी में भी अपना पैसा लगा सकते. इसमें इनवेस्ट करने के लिए आपको अपना डीमैट एकाउंट खोलना होगा जिसका आपके बैंक अकाउंट में पैसे रखे होते हैं. इसी तरह से डीमैट अकाउंट में शेयर्स रखे होते है ये  डीमैट अकाउंट आपके सेविंग अकाउंट से लिंक हो जाता है. इससे होता ये है कि आप अपने डीमैट अकाउंट से कोई भी शेयर जब बेचने हो मार्केट में तो वो पैसा सीधे आपके saving अकाउंट में आ जाते है अकाउंट account बहुत आसानी से आप अपने मोबाइल फोन से खोल सकते.

दो कंपनियां ऐसी हैं जो डीमैट अकाउंट provide करती हैं जिनके बारे में मैं जानता हूं. पहला  है zerodha
जों 300 रुपए में डीमैट एकाउंट खोल देती  है . और दूसरा है  Upstox जो लिमिटेड टाइम ऑफर में फ्री में डीमैट एकाउंट खोल रही है और अब Upstox कुछ selected Customers को  100 rs के शेयर भी दे रहे  है

अगर आप एक स्टूडेंट आपके पास पैसे नहीं है invest करने के लिए तो भी आपको डीमैट अकाउंट खोलना चाहिए सीखने के लिए स्टॉक मार्केट में रिस्क तो होता ही  है  और इस रिस्क को कोई भी कभी भी खत्म नहीं कर सकता.

अगर आप जिंदा हो तो मरने का रिस्क कहीं न कहीं हमेशा होता है लेकिन इसका मतलब ये नहीं है कि आप लापरवाही से अपना दिन बिताएं. रोड देखकर cross ना करें या फालतू के 10 वि बिल्डिंगों पर शक्तिमान बनने की कोशिश करें.

ठीक उसी तरह स्टॉक मार्केट में भी रिस्क कम किया जा सकता है अगर आप कुछ बातें मानिये सबसे पहले experts से कॉन्टैक्ट बनाओ आपके कॉन्टैक्ट में जितने ज्यादा एक्सपर्ट्स होंगे. स्टॉक मार्केट में आपके कामयाब

होने के चांसेज उतने ज्यादा होंगे. इसके बाद किसी एक्सपर्ट की बात पर सिर्फ इसलिए भरोसा मत करो क्योंकि वो एक्सपर्ट है आप खुद भी हमेसा इसके बारे में हमेसा जानते रहो

इससे  related books पढ़ते रहो ताकि आपको हमेशा इन experts पर depended न रहना पड़े और आप खुद भी एक दिन एक्सपर्ट बन जाओ. साथ ही आपको एक बात और ध्यान रखने की जरूरत है. सारे Experts  expert हो ये जरूरी नहीं हैं. कुछ Experts को कंपनीज पैसे देती हैं ताकि वो लोग अपने Followers से बोल सकें कि उनकी कंपनी के Grow करने की बहुत Possibilites है इसीलिए वो experts उस कंपनी में पैसा लगाने के लिए आपको बोल सकते हैं जिसने उन्हें इसके लिए पैसे दिए हैं इसलिए यह बहुत जरूरी है कि आप आँख बंद करके इन लोगों की बात न सुने

एक स्टॉक मार्केट एक्सपर्ट है जो टेलीग्राम चैनल चलाते हैं जो Beginners को मार्केट के बारे में बताते हैं उनकी हेल्प करते हैं. दूसरी बात जो आपको ध्यान में रखनी चाहिए वो ये कि किसी भी कंपनी में इन्वेस्ट करने से पहले उसका बैकग्राउंड जरूर चेक करो. ये कि पिछले कुछ सालों में कंपनी ने कितना प्रॉफिट कमाया है. उसने अपने शेयरहोल्डर्स को कितना डिविडेंड दिया है उसके फाउंडर्स कैसे हैं उसका मैनेजमेंट कैसा है उस कंपनी की टीम कैसी है. आप उस कंपनी के हर पहलू को अच्छे से परखें और फिर यह फैसला कीजिए कि वो इन्वेस्ट करने लायक है या नही

इसके बाद ये देखिए कि इस कंपनी के फ्यूचर में ग्रो करने के चांसेस कितने हैं. आप सोचते हैं कि अगर टेक्नोलॉजी और गेम्स की कंपनीज बहुत फायदा कमाती हैं. ये सच है लेकिन वो ज्यादा दिन मार्केट में नहीं रहती. लोग एक ही गेम खेल खेलकर ऊब जाते हैं.

अब वो  PUBg हो या plkmon हो  इस तरह की कंपनी इस short तेर में फायदा कमाने के लिए अच्छी होती है लेकिन लॉन्ग टर्म में ये फेल हो जाती हैं क्योंकि लोगों को हमेशा कुछ नया चाहिए होता है. ज्यादा फायदा कमाने के लिए आपको एक कंपनी में लॉन्ग टर्म के लिए इनवेस्ट करना होगा लेकिन अगर आप शॉर्ट टर्म में पैसा लगाना चाहते हैं तो उसमें भी कोई बुराई नहीं ह

बस आपको इसमें फायदा कम होगा या हो सकता नुकसान हो जाए. अगर आपको वाकई एक दिन वॉरेन बफेट और राकेश झुनझुनवाला की तरह एक बड़ा इनवेस्टर बनना है और आप स्टॉक मार्केट को करियर की तरह चुनना चाहते हैं तो ये जरूरी है कि आप इसमें एक्सपर्ट बनो.

stock मार्केट का Concept सिर्फ इस मुद्दे  पर खत्म नहीं होता यह बहुत बड़ा सब्जेक्ट है. अगर आपको इससे रिलेटेड बुक्स पर नेता ये किताबें पढ़ सकते हो तो

> The intelligent investor
> the wealth of common sense
> The Falcon method

इसके अलावा ये याद रखें कि शुरुवात में आपसे गलतियां होंगी आपको इन गलतियों से सीखना होगा

अगर आप इसे पार्ट टाइम में स्टॉक मार्केट में Invest करना चाहते हैं. तब आप mutual fund के जरिए ये काम कर सकते हैं

Leave a Comment